धारा 144 क्या है और इसमें कौन-कौन सी प्रावधान किया गया है

क्या है धारा 144

आप लोग कभी न कभी जरुर सुने होंगे कि शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए धारा 144 लगा दी गई है । आज की इस पोस्ट में हम लोग बात करेंगे कि धारा 144 क्या है? यह कब लगाई जाती है इसको लागू करने के बाद कौन कौन सी बात का ध्यान रखना पड़ता है? साथ ही इस धारा का पालन नहीं करने पर कितना सजा का प्रावधान किया गया है? सीआरपीसी का धारा 144 जिला मजिस्ट्रेट के द्वारा एक नोटिफिकेशन जारी कर शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए लगाई जाती है।

कहाँ लगाया जाता है धारा 144

 यह धारा 144 किसी विशेष जिला या थाना या फिर तहसील में लगाई जा सकती है । प्रशासनिक अधिकारी को जब भी कोई ऐसा संदेह हो कि इलाके में शांति व्यवस्था प्रभावित हो सकती है तो यह धारा 144 लगा दी जाती है।

धारा 144 का उल्लंघन पर सजा

 धारा 144 के लागू होने पर  पांच व्यक्ति या इससे ज्यादा व्यक्ति एक साथ इकट्ठा नहीं हो सकता है।  साथ ही किसी भी प्रकार का हथियार कही भी ले जाने पर प्रतिबंध लगा दी जाती है । इसका उल्लंघन करने पर पुलिस धारा 107 और 151 के तहत गिरफ्तार कर सकती है।  और गिरफ्तार करने के बाद उसे इलाके के एसडीएम या पुलिस कप्तान के सामने पेश किया जाता है, क्योंकि यह अपराध जमानती अपराध है ।इसलिए बेल बांड भरने के बाद आरोपी को इसमें रिहा करने का भी  प्रावधान किया गया है।  अगर आरोपी गिरफ्तार  के दौरान बेल बांड नहीं भरे तो उसे जेल भेज दिया जाएगा । इस मामले में अधिकतम 1 साल तक की कैद हो सकती है। कहीं ऐसा भी देखा गया है कि सरकारी आदेश को न मानने वाले व्यक्ति को पुलिस धारा 188 के तहत गिरफ्तार करती है जिसमें  एक वर्ष का सजा और  ₹200 जुर्माना का प्रावधान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *