लाॅकडाउन का अर्थ क्या है? इसे क्यों लगाया जाता है।

लाॅकडाउन का अर्थ:  लाॅकडाउन का शाबदिक अर्थ होता है तालाबंदी। इस समय भारत में कोरोनावायरस को समाप्त करने का अभियान सरकार और कई संस्थाओं द्वारा चलाया जा रहा है। इस अभियान में सभी व्यक्ति को जो जहाँ है, वहीं रहना होता है तो जो गरीब और मजदूर तबके के आदमी होता है उसके लिए सरकार और यह संस्था काम करती है।भारत

 देश में लाॅकडाउन का व्यवस्था पहली बार किया गया है, क्योंकि भारत देश में इस तरह का लाईलाज बिमारी पहले कभी नहीं फैला था। लाॅकडाउन का व्यवस्था पहले भारत के कुछ ही राज्य में किया गया था, परन्तु बाद में पुरे भारत में लाॅकडाउन का व्यवस्था किया गया है।  इसलिए आपको जरूर जान लेना चाहिए लाॅकडाउन का मुख्य-मुख्य बिन्दु को।

लाॅकडाउन में प्रशासन का मदद

लाॅकडाउन होने पर सभी सेवा पूर्णतः बंद कर दी जाती है।  जैसे दुकान, बाजार, बस, ट्रेन, वायुयान इत्यादि। परन्तु कुछ आपातकालीन सेवा इस स्थिति में भी 24 घंटे चालु रहता है। लाॅकडाउन के समय यदि किसी व्यक्ति के परिवार के कोई लोग बीमार पड़ जाए तो इसका सूचना जिला प्रशासन को तुरंत देना चाहिए, ताकि बीमार व्यक्ति का सही समय पर ईलाज हो पाए। यदि आपको जिला प्रशासन से संपर्क करने में परेशानी हो रहा है या आपको पता नहीं चल रहा है कि जिला प्रशासन का नम्बर कहाँ से मिलेगा तो ऐशे परिस्थिति में आप पुलिस को 100 नम्बर पर काॅल करके सूचना दे सकते है। पुलिस टीम आपके द्वारा बताए गए स्थान पर आएगी और आपकी मदद करेंगी।

लाॅकडाउन पर कानून 

लाॅकडाउन का पहले से ज्यादा जानकारी नहीं होने के कारण कुछ लोग घबरा जाते है और खुद परेशानी में फंस जाते है। कुछ लोग लाॅकडाउन का तुलना कफ्यू से करते तो कुछ लोग लाॅकडाउन का तुलना धारा 144 से करते हैं। ये सभी परिस्थितियों में भी जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन उसी तरह से आम व्यक्ति के सेवा 24 घंटा जुड़े रहते है जैसे पहले से जुड़े हुए थे। लाॅकडाउन जैसी स्थति में सभी व्यक्ति से सरकार यही ऐलान किया है कि जो जहाँ पर है वही रहे। साथ ही साथ सभी को अपना घर में रहने के लिए ही कहा गया है वैसे भी लाॅकडाउन के समय सभी बाजार , बसे, गाड़ी भी बंद ही है तो बाहर निकल कर करोगे क्या।

कोरोनावायरस कैसे खत्म होगा

कोरोनावायरस जैसे बिमारी खास कर एक दूसरे के संपर्क में आने से ही तेजी से फैलता है। यही कारण है की सभी को सोशल दूरी बना कर रहना चाहिए। यदि कोई व्यक्ति इस नियम का पालन नहीं करता है तो ये आप सब का भी जिम्मेदारी बनता है कि उससे ऐशा करने का आग्रह करें ,क्योंकि यदि ये वायरस का अनदेखी की जाए तो कितना का परिवार ही खत्म हो सकता है। ऐशे परिस्थिति में हम सभी को सरकार के द्वारा लाए गए नियम पर चलना चाहिए और दूसरे व्यक्ति को भी इससे प्रेरित करना चाहिए। 

कोरोनावायरस वायरस के लक्षण क्लिक करें 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Need Help? Chat with us