शादी के बाद लड़की बयान बदल कर केस करें तो कैसे बचे

अक्सर यह देखा जाता है कि लड़की शादी के बाद अपना बयान बदल देती है। यह बयान लड़की खासकर अपने परिवार वाले के दबाव में आकर या पुलिस के दबाव में आकर बदल देती है और लड़के के ऊपर जबरन शादी करने का आरोप लगा देती है। आज की इस पोस्ट में हम लोग जानेंगे कि लड़की जब अपना बयान बदल के लड़के के ऊपर केस दर्ज करती है तो इस परिस्थिति में लड़का को कौन-कौन से कानूनी उपाय आजमाना चाहिए और खुद का बचाव कैसे करना चाहिए साथ ही यह शादी को भी कैसे बचाना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए यहां नीचे वीडियो दिया गया है यह वीडियो देख सकते हैं।

 पुलिस स्टेशन में साक्ष्य दें

आपके ऊपर लड़की जिस पुलिस स्टेशन में बयान बदल कर जबरन शादी करने का आरोप लगाई है। आपको उस पुलिस स्टेशन के द्वारा यह बात सूचना दिया जाएगा। इसके बाद आप पुलिस स्टेशन में जाकर अपना पक्ष रखें साथ ही साथ शादी से संबंधित आपके पास जो भी साक्ष है, जैसे आपका शादी का सर्टिफिकेट हो गया या आपने शादी को कोर्ट में रजिस्टर्ड की है तो रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट हो गया यह सभी सर्टिफिकेट लेकर आपको पुलिस के समक्ष उपस्थित होना चाहिए, साथ ही आपको यहां ध्यान रखना चाहिए कि आप अपने साथ एक दो व्यक्ति को लेकर जाए। यदि संभव हो तो आप अपना वकील को भी अपने साथ रखें और पुलिस को यह सब कागजात दिखाएं और बताएं कि हमलोग शादी अपना खुशी से अपने मर्जी से किए हैं, इस पर किसी का कोई दबाव नहीं है।

पुलिस नहीं माने तो क्या करें

यदि आपकी बात को पुलिस नहीं मानती है तो भी आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आप यह सभी साक्ष लेकर कोर्ट पहुंचे और उसके बाद आपको कोर्ट से यह आदेश जारी कर दिया जाएगा  कि इस लड़के पर किसी प्रकार का कोई कानूनी कार्रवाई ना करें और ना ही इसे गिरफ्तार करें और इसके बाद आपको पुलिस गिरफ्तार नहीं करेगी और आप बिल्कुल निश्चिंत रहे। इसके बाद कोर्ट यह सब बात को देखेगी कि आपका शादी किस तरीके से किया गया है और कहां किया गया है। यदि आप लोग कोर्ट मैरिज किए हैं तो इस परिस्थिति में मैरिज रजिस्टार को भी कोर्ट में बुलाकर पूछा जाएगा कि शादी के वक्त लड़की क्या बयान दिया था। यदि आप लोग कोई आर्य समाज मंदिर में शादी की है तो उस मंदिर वाले को भी कोर्ट में बुलाकर यह बात पूछा जाएगा की लड़की वहां पर शादी के समय क्या बयान दर्ज करवाई है।

लड़की को बयान बदलना आसान नहीं

लड़की जब भी अपना बयान बदलती है तो यह कोई आसान नहीं है कि लड़की को जब जो मन हो वह बोलकर लड़के पर आरोप लगा दे। यदि आप शादी कोर्ट में करते हैं तो वहां पर भी मैरिज रजिस्टर्ड के सामने लड़की का बयान दर्ज करवाया जाता है साथ ही साथ यदि आप लोग अपना शादी आर्य समाज मंदिर में करते हैं तो वहां भी लड़की के द्वारा लिखित में स्टेटमेंट लिया जाता है और उस लिखित स्टेटमेंट में खासकर इस बात को लिखाया जाता है कि लड़की यह शादी खुद अपनी मर्जी से कर रही है। वह किसी के दबाव में आकर या किसी के डर से या फिर किसी प्रकार के प्रलोभन के लिए यह शादी नहीं कर रही है साथ ही साथ इस स्टेटमेंट में इस बात को भी लिखाया जाता है कि इस शादी के लिए लड़की किसी प्रकार का कोई दहेज नहीं दिया है और ना ही देने का वादा किया है। उसके बाद आपके तरफ से दो गवाही होगा उस दोनों गवाही का आधार कार्ड और फोटो लिया जाएगा और आवश्यकता पड़ने पर आप कोर्ट में साक्ष्य के तौर पर गवाह का उपयोग कर सकते हैं।

शादी के बाद पुलिस केस से बचने का तरीका 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *