सरकारी जमीन का कागजात कैसे बनाये

आज के इस पोस्ट में हम लोग बात करेंगे कि आप कोई सरकारी जमीन का कागजात कैसे बनवा सकते हैं और उसका दाखिल खारिज कराकर लगान रसीद कैसे निर्गत करवा सकते हैं। सरकारी जमीन जिसे हम लोग गैरमजरुआ जमीन के नाम से जानते हैं। इसी जमीन का कागजात बनाने के बारे में आज की इस पोस्ट में हम लोग चर्चा करने जा रहे हैं।

गैरमजरुआ जमीन किसे कहते हैं

यदि आपके जमीन के आसपास कोई गैरमजरूआ जमीन खाली पड़ा हुआ है तो ऐसी स्थिति में आप उस जमीन का कागजात बनाकर उसका लगान रसीद निर्गत करवा सकते हैं और उस पर अपना कब्जा जमा सकते हैं । कानून आपको अधिकार देता है कि आप गैरमजरूआ जमीन का कागजात तैयार कर उसपर अपना कब्जा जमा सकते हैं। गैरमजरुआ जमीन का कागजात आप बना लेते हैं तो आपका उस जमीन पर कानूनी अधिकार हो जाएगा। यदि आपके खेत के चारों साइड में से किसी भी साइट गैरमजरूआ जमीन है तो उसका कागजात आसानी से आप बना सकते हैं। आपको एक चीज ध्यान रखना होगा यदि उस गैरमजरूआ जमीन पर कोई अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के व्यक्ति कब्जा कर लेता है तो फिर आप उसे खाली नहीं करवा सकते हैं इसलिए यदि खाली पड़ा हुआ है तो आपको कागजात तैयार कर लेना चाहिए और कब्जा जमा लेना चाहिए।

गैरमजरुआ जमीन का कागजात बनाये

अब हम लोग बात करते हैं कि गैरमजरूआ जमीन का कागजात कैसे तैयार किया जाएगा। आपका जो जमीन के साइड में गैरमजरूआ जमीन है आपको पहले अपना जमीन का सभी कागजात को अपडेट करना होगा। आपको अपने जमीन के कागजात के तौर पर ओरिजिनल केवाला और उस जमीन का रसीद अपडेट होना जरूरी है। यदि आप का जमीन का रसीद नहीं अपडेट किया हुआ है तो आप ऑनलाइन भी अपने मोबाइल से उस जमीन का रसीद बहुत ही आसानी से अपडेट कर सकते हैं । इसके बारे में मैं पहले ही पोस्ट इस वेबसाइट पर प्रकाशित कर चुका हूं आप उसे देख सकते हैं इ। अब चलिये हमलोग बात कर लेते है की गैरमजरुआ जमीन का कागजात कागजात तैयार करने के लिए कौन कौन सा कागजात पहले तैयार करना होगा। इसके लिए आपको कुछ पॉइंट ध्यान में रखना होगा जो निम्नलिखित हैं।

  1. आप अपने जमीन का कागजात तैयार करें

2. हल्का कर्मचारी से गैरमजरूआ जमीन का नक्शा बनाएं

3. तहसील अधिकारी के नाम से आवेदन तैयार करें

आवेदन कहाँ जमा करें

यह सब कागजात तैयार करने के बाद आपको आवेदन सहित अपना प्रखंड कार्यालय में जाकर इसे जमा करना होगा। जमा करने के बाद आपका जमीन का जांच पड़ताल किया जाएगा साथ ही उस गैरमजरूआ जमीन का भी पड़ताल किया जाएगा कि वह जमीन खाली अवस्था में है या नहीं। यदि उस गैरमजरूआ जमीन पर किसी प्रकार का पेड़ पौधा लगा हुआ है तो उसे आप काट कर अपना कब्जा नहीं कर सकते हैं। जब प्रखंड स्तर से जांच पड़ताल में सभी सही पाया जाता है तब आपका आवेदन को जिला में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

दाख़िल ख़ारिज कैसे करें

जिला में आवेदन का सत्यापन

जिला में आपका सभी कागजात का पुनः जांच पड़ताल किया जाएगा यदि सब कागजात सही नहीं पाया जाता है तो आपका आवेदन को अस्वीकृत कर दिया जाएगा। यदि आपका सभी कागजात सही सही पाया जाता है तो यहां से यानी जिला से आपका कागजात को पुनः आपका प्रखंड में स्थानांतरित कर दिया जाएगा और प्रखंड से आपको उस गैरमजरूआ जमीन का बंदोबस्ती पत्र आपके नाम कर दिया जाएगा। उसके बाद आप उस जमीन का दाखिल खारिज करवा सकते हैं और अपना कब्जा कर उसे अपने उपयोग में ले सकते हैं।

याद रखने योग्य मुख्य बिन्दु

आप जब प्रखंड में अपना कागजात को जमा करते हैं तो आपको एक-दो सप्ताह के बाद बार-बार अपने प्रखंड जाकर अपना आवेदन का स्थिति के बारे में पता करते रहना चाहिए ताकि आपका काम जल्दी में हो सके। यह कागजात तैयार करने में छ: माह से एक वर्ष तक का समय लग सकता है। गैरमजरूआ जमीन का बंदोबस्त करने के बाद आप दाखिल खारिज का आवेदन करने में बिल्कुल भी देर ना करें। जब तक आप दाखिल खारिज नहीं करवाते हैं तब तक आपको उस गैरमजरूआ जमीन पर कब्जा नहीं करना चाहिए क्योंकि हो सकता है कोई व्यक्ति उस पर प्रतिरोध कर दें। यदि आप उस गैरमजरूआ जमीन का दाखिल खारिज करवा लेते हैं तो आपके पास गैरमजरूआ जमीन का सभी कागजात तैयार हो जाता है। उसके बाद ही आप उस गैरमजरूआ जमीन पर कब्जा करें ताकि आपका कोई व्यक्ति कुछ प्रतिरोध ना कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Need Help? Chat with us