सोशल मीडिया भेज सकता है जेल रखें इन बातों का ध्यान

आप भी कर रहे हैं फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया का उपयोग तो आपको सावधान हो जाना चाहिए। सोशल साइट पर कुछ लापरवाही आपको सीधे भेज सकता है जेल। आज हम इस पोस्ट में बात करेंगे कि कौन-कौन से गलती करने पर आपको जेल जाना पड़ सकता है और आपको किस बात का हमेशा ध्यान रखना होगा।

किस बात का ध्यान रखें 

यदि सोशल मीडिया पर आप किसी प्रकार का कोई भड़काऊ पोस्ट करते हैं अफवाह उड़ाते हैं। किसी के जाति, धर्म ,नस्ल इत्यादि के बारे में कुछ ऐसे भावना फैलाते हैं जिससे संबंधित समुदाय के व्यक्ति को आहत पहुंचे, तो ऐसी परिस्थिति में आप जेल जा सकते हैं। सरकार के तरफ से सभी सोशल अकाउंट पर नजर भी रखा जा रहा है। ऐसे में यदि आप किसी दूसरे के भड़काऊ पोस्ट को लाइक करते हैं शेयर करते हैं तो भी आप जेल जा सकते हैं यदि आप कुछ गलत पोस्ट नहीं किए हैं लेकिन कोई व्यक्ति गलत पोस्ट करके आपको टैग कर लिया है तो भी आपके  उपर कानूनी कार्रवाई हो सकता है। इसलिए यदि आप फेसबुक उपयोग कर रहे हैं तो आपको अपना सेटिंग में जाकर टैग सिस्टम को प्रीव्यू में डाल देना चाहिए, ताकि यदि कोई आपको टैग भी करें तो वह आपका टाइमलाइन पर नहीं दिखे।

सरकार क्यो रख रही है नजर

आए दिन सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट को लेकर कई जगह हिंसा हुआ है जिसके कारण सरकार सभी तरह के सोशल अकाउंट पर अपना नजर बनाए रखें हुआ है क्योंकि बहुत से ऐसे भी अकाउंट है जिस पर 2 साल 3 साल पहले का भड़काऊ पोस्ट को अभी भी शेयर किया जा रहा है और आदमी उसे वर्तमान का पोस्ट समझकर कहीं पर हिंसा कर देता है। कोई दूसरा राज्य में भी या फिर कोई दूसरा देश का भी वीडियो को यहां पर शेयर करके आदमी के बीच हिंसा फैलाया जा रहा है जैसे आपको उदाहरण के लिए बताएं कि जम्मू-कश्मीर में पहले 370 अनुच्छेद हटने से पहले राष्ट्रीय झंडे का अपमान करना अपराध नहीं माना जाता था लेकिन वह वीडियो और फोटो यहां पर दूसरे राज्य में भी बार-बार शेयर करके दिखाया जा रहा है कि किस तरह अपमान किया जा रहा है जिससे व्यक्ति में जनाक्रोश का भावना उत्पन्न होता है।

कितना बड़ा अपराध है 

यदि कोई पोस्ट को कोई दूसरा व्यक्ति ही क्यों न लिखा है, लेकिन वह यदि भड़काऊ पोस्ट है और आप उसे शेयर कर देते हैं तो जितना बड़ा अपराध इस पोस्ट को लिखने वाला किया है उतना ही बड़ा अपराध आप भी किए है क्योंकि आप उस चीज को समर्थन की है। अभी सोशल मीडिया पर कोई भी चीज को फैलने में बिल्कुल भी समय नहीं लगता है। एक घंटा के अंदर पूरा देश में छा जाता है, इसलिए इस अफवाह को फैलाने में जितना जिम्मेदार लिखने वाला है उतना ही जिम्मेदार इसे आगे बढ़ने वाला भी है। इसलिए भड़काऊ पोस्ट को ना तो शेयर करें ना ही लाइक करें।  भड़काऊ पोस्ट को देखते ही इसे रिपोर्ट जरूर करें।

कैसे पकड़ेगी पुलिस 

यदि आप सोशल मीडिया पर किसी प्रकार का कोई अफवाह फैलाने वाला पोस्ट को लाइक, शेयर करते हैं या फिर इसे पब्लिश करते हैं तो आप को पकड़ने में पुलिस को कोई भी परेशानी नहीं होगा, आपको बिल्कुल आसानी से पकड़ा जा सकता है। अभी के दौर में टेक्नोलॉजी इतना विकसित हो गया है कि यदि आप किसी दूसरे का पोस्ट को शेयर भी करते हैं तो उसे यह पता लगाने में देर नहीं होता है कि यह पोस्ट को किसने तैयार किया है और काफी आसानी से उसका आईपी एड्रेस को ट्रैक करके उसे पुलिस गिरफ्तार कर लेती है और उस व्यक्ति को पता तक भी नहीं चलता है।

भड़काऊ पोस्ट को कैसे पहचाने

भड़काऊ पोस्ट को पहचानने का कोई मुख कानूनी तरीका तो नहीं है लेकिन फिर भी कुछ ऐसे फोटो, वीडियो, ऑडियो जिससे किसी व्यक्ति को आहत पहुंच सके। जैसे किसी भी धर्म के फोटो के साथ या किसी प्रतिमा के साथ किसी प्रकार का एडिटिंग करके और छेड़छाड़ करके उसको गलत तरीका से वायरल करना। ऐसा फोटो या वीडियो जिसे देखने के बाद किसी संबंधित व्यक्ति का भावना को ठेस पहुंचे तो यह सब भड़काऊ पोस्ट के अंतर्गत आता है। साथ ही साथ कुछ ऐसा भी फोटो या वीडियो जिससे हिंसा हो सकता है या होने का संभावना हो तो यह सभी भड़काऊ पोस्ट के अंतर्गत आएगा।

भड़काऊ पोस्ट का शिकायत कहाँ करें 

यदि सोशल मीडिया पर कोई व्यक्ति आपको किसी प्रकार का भड़काऊ पोस्ट भेज देता है  तो ऐसी परिस्थिति में इस व्यक्ति का आपको शिकायत जरूर करना चाहिए।  ऐसे व्यक्ति का शिकायत साइबर डिपार्टमेंट में किया जा सकता है। साइबर  डिपार्टमेंट का ईमेल के जरिए या उसका वेबसाइट से नम्बर लेकर फोन के जरिए भी शिकायत कर सकते हैं। यदि आपको ज्यादा पता नहीं है कि साइवर डिपार्टमेंट का नंबर कितना है तो ऐसी परिस्थिति में आप 100 नंबर पर कॉल करके सीधे पुलिस में भी इसका शिकायत दर्ज करवा सकते हैं, और संबंधित व्यक्ति पर कार्यवाही भी बहुत जल्द किया जाएगा।

फर्जी एकाउंट पर कानून 

यदि कोई लड़का फर्जी तरीके से किसी लड़की के नाम से प्रोफाइल बना लेता है तो यह भी अपराध की कैटेगरी में माना जाएगा और आईटी एक्ट के तहत इसे गिरफ्तार भी किया जा सकता है और सजा भी होगा, तो ऐसे में सभी व्यक्ति को अपना निजी प्रोफाइल ही बनाना चाहिए। यदि कोई लड़की किसी दूसरे लड़का के नाम से फर्जी अकाउंट बनाता है तो उसे भी आईटी एक्ट की धारा के तहत गिरफ्तार किया जा सकता है और सजा भी दिया जा सकता है। यदि आप कोई राजनेता या फिर कोई सेलिब्रिटी के नाम से फैन पेज बनाते हैं तो यह अपराध के कैटेगरी में नहीं आएगा।

एकाउंट हैक होने पर क्या करें 

यदि आपका सोशल मीडिया का अकाउंट हैक हो जाता है और हैक होने के बाद उस अकाउंट पर यदि कोई व्यक्ति किसी प्रकार का भड़काऊ पोस्ट करता है तो ऐसी परिस्थिति में भी आपके ऊपर ही कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इससे बचने के लिए जब भी आपका अकाउंट हैक होता है तो आप अपना अकाउंट को लॉगइन करेंगे तो लॉगइन करते समय भी सबसे नीचे स्क्रीन पर आपको रिपोर्ट करने का ऑप्शन मिलेगा। आप वहां रिपोर्ट करके यह बता सकते हैं कि मेरा अकाउंट हैक हो गया है। साथ ही इसका आप लिखित में पुलिस में भी शिकायत दर्ज करवा दें ताकि आपका बचाव हो सके। यदि आप पुलिस में शिकायत दर्ज करवा देते हैं और उसके बाद यदि आपका सोशल अकाउंट से कोई व्यक्ति किसी प्रकार का भड़काऊ पोस्ट करता है तब आप दोषी नहीं माने जाएंगे।
लाॅकडाउन में दूकानदार वसूल रहे मनमानी कीमत शिकायत 

सड़क दुर्घटना में मुआवजा कैसे लें 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Need Help? Chat with us