59 चीनी एप्स को बैन करने का बड़ा राज जाने विस्तार से

भारत सरकार ने 59 चीनी मोबाइल एप्प पर बैन लगाया | किस कानून के तहत ऐप्स बैन किया गया है | क्यों चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया | क्यों बंद हुआ चीनी ऐप्स | चीनी ऐप्स |

भारत सरकार ने 59 चीनी मोबाइल एप्प पर प्रतिबंध 29 जून 2020 को लगा दिया है। इस ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का मुख्य कारण देश कि रक्षा , मर्यादा, सूरक्षा व संप्रभुता है।

भारत सरकार ने 59 चीनी मोबाइल एप्प पर बैन लगाया | किस कानून के तहत ऐप्स बैन किया गया है | क्यों चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया | क्यों बंद हुआ चीनी ऐप्स | चीनी ऐप्स |

भारत का खुफिया एजेंसी व अमेरिका का एजेंसी ने भारत सरकार को इसके बारे में पहले ही अगाह किया था। बैन किये गए ऐप्स में कुछ ऐप्स काफी मशहूर भी है जो लगभग हर भारतीय के मोबाइल मे देखने को मिल जाता है। इस मशहूर ऐप्स में टिकटाॅक (Tik Tok) पहले स्थान पर है दूसरे व तीसरे स्थान पर शेयरइट (Shareit) व कैम स्कैनर है।

भारत सरकार ने 59 चीनी मोबाइल एप्प पर बैन लगाया | किस कानून के तहत ऐप्स बैन किया गया है | क्यों चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया | क्यों बंद हुआ चीनी ऐप्स | चीनी ऐप्स |

ये ऐप्स से चीन प्रतिदिन कड़ोर रुपया कमाते थे। साथ ही जितने लोग इस ऐप्स का उपयोग करते थे उन सभी का डाटा भी इस ऐप्स के सर्वर पर सेव रहता था। यानी ऐप्स उपयोग करने वाले का डाटा चीनी सर्वर पर सेव रहता था। भारत और चीन के बिच विवादों के कारण इन डाटा का गलत उपयोग भी हो सकता था । एक चीन के जानें माने नागरिक ने अपना एक भरकाऊ ब्यान देते हुए कहा कि आने वाले समय में किसी देश के साथ युद्ध डाटा से ही होगा। भारत सरकार ने अपने देश और अपने देश के तमाम ऐप्स उपयोगकर्ता का सूरक्षा को नजर रखते हुए ऐसे सभी ऐप्स को भारत में बैन करने का फैसला किया है।

किस कानून के तहत 59 ऐप्स बैन किया गया 

केन्द्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने बताया है कि इंफाॅर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट ( IT ACT) की धारा 69ए में यह प्रावधान किया गया है कि सरकार देश का सूरक्षा और प्राइवेशी के मद्देनजर रखते हुए किसी ऐप्स को बैन कर सकती हैं। आपको बता दे कि इससे पहले भी Tik Tok  ऐप को बैन किया गया था परन्तु यह ज्यादा समय तक बैन नहीं रहा। Tik Tok का स्वामी सुप्रिम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और इसे पुनः वापस किया गया।


अभी के समय के हिसाब से यदी देखा जाए तो जो ऐप्स को बैन किया गया है उस ऐप्स से बहुत का रोजी रोटी भी चलता था। यह ऐप्स बैन होने के कारण बहुत के जैब पर भी इसका सीधा असर पड़ेगा। अब आगे देखना यह दिलचस्प होगा कि 59 ऐप्स को बैन करना कितना सफल रहता हैं और कौन-कौन ऐप्स का स्वामी सुप्रिम कोर्ट का दरवाजा तक पहुँचता है। इतना बड़ी संख्या में एक साथ ऐप्स को बैन करने से चीन का भी जेब पर बहुत बड़ा असर पड़ेगा क्योंकि इस ऐप्स के द्वारा चीन को प्रतिदिन कड़र रुपया का मुनाफा होता था। आगे इसमें किसी भी प्रकार का कोई अपडेट होने पर आपको सबसे पहले सुचित करने का प्रयास करूंगा।
सोशल मीडिया भेज सकता है जेल रखें इन बातों का ध्यान 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Need Help? Chat with us