Affidavit क्या हैं | What is Affidavit

आजके इस पोस्ट में हमलोगों बात करेगें कि Affidavit क्या हैं? एफिडेविट का उपयोग कहाँ किया जाएगा? Affidavit कितने प्रकार के होते हैं? यदी कोई व्यक्ति गलत एफिडेविट का उपयोग करता हैं तो ऐसे परिस्थिति में उसको कितना सजा हो सकता है। यानी कि Affidavit के बारे में पूर्ण जानकारी आपको यहाँ मिलेगा। ( यह भी पढें:- स्टाम्प पेपर क्या है)

What is Affidavit

Affidavit क्या है

यदी कोई व्यक्ति किसी कार्य को करने या फिर न करने के लिए अपनी मर्जी से स्टाम्प पेपर पर कानूनी तरीका से लिखित रूप में ओथ कमिश्नर या नोटरी पब्लिक के समक्ष घोषणा करता हैं तो इसे Affidavit/ शपथ पत्र/ हलफनामा कहा जाता है। जो व्यक्ति शपथ पत्र बनाता है उसे शपथकर्ता कहा जाता हैं। Affidavit में शपथकर्ता यह शपथ लेता है कि उसमें जो भी बात लिखा गया है वह सभी बात उसके जानकारी के अनुसार बिल्कुल सही है और इसके निचे शपथकर्ता का हस्ताक्षर होता हैं। ओथ Act 1969 में यह बात स्पष्ट किया गया है कि शपथकर्ता शपत्र पत्र में जो भी बात लिखेगा वो सही हो। (यह भी पढ़े:- Cr.P.C 107 and 116 in Hindi )

Affidavit का उपयोग

आजकल दैनिक जीवन में Affidavit का उपयोग काफ़ी बढ़ गया हैं। आप भी कभी न कभी Affidavit जरुर बनाये होंगे। Affidavit का उपयोग शादी का रजिस्ट्रेशन कराते समय, जन्म प्रमाणपत्र बनाते समय, राशन कार्ड बनाते समय, वंशावली बनाते समय इत्यादि में सरकारी और गैर-सरकारी कार्यालय में जमा करना होता हैं। ( यह भी पढ़े:- उधार का पैसा वसूलने का कानूनी नियम )

Affidavit का प्रकार

Affidavit मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं। पहला Affidavit वो होता हैं जिसे हमलोग सरकारी और गैर-सरकारी कार्यालय में राशन कार्ड इत्यादि बनाने के लिए जमा करते हैं। दूसरा Affidavit कोर्ट में सिविल केस में खासकर दिया जाता है। कोर्ट में देने वाला Affidavit भी साधारण Affidavit के तरह ही दिखता है लेकिन इसमें सिर्फ इतना अंतर रहता हैं कि जिस कोर्ट में इसे जमा किया जाएगा उस कोर्ट का नाम इस Affidavit के उपर में लिखा रहता हैं। तीसरा Affidavit वो होता हैं जिसे हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में गवाह अपना बात को लिख कर देता हैं। ( यह भी पढ़े:- प्रॉपर्टी खरीद बिक्री के लिये एग्रीमेंट कैसे तैयार करें )

गलत Affidavit देने पर सजा

यदी कोई व्यक्ति जानबूझकर सरकारी या गैर-सरकारी कार्यालय में में या कोर्ट में गलत Affidavit देता हैं तो उसके उपर मुकदमा भी दर्ज हो सकता है और गलत Affidavit देने वाला व्यक्ति को तीन वर्ष से लेकर सात वर्ष तक का सजा और जुर्माना देना पड़ सकता है। Affidavit को तैयार करते समय पहले सबसे पहलें Affidavit को ध्यान से पढ़कर समझना चाहिए उसके बाद ही Affidavit पर हस्ताक्षर करना चाहिए। Affidavit हिन्दी, अंग्रेजी और लोकल भाषा में तैयार किया जा सकता है। Affidavit ₹10 से लेकर ₹100 तक के स्टाम्प पेपर पर तैयार किया जा सकता है। आप जिस कार्य के लिए Affidavit बना रहे हैं आपको पहले वहाँ पता कर लेना चाहिए कि उस कार्य के लिए कितना रुपया का स्टाम्प पेपर पर Affidavit तैयार किया जाएगा। Affidavit कोई भी कोर्ट में नोटरी से तैयार करवाया जा सकता है। ( यह भी पढ़े:- धोखाधड़ी का मुकदमा IPC 420)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *