NCR क्या है? कौन नागरिक होगा देश से बाहर

1. क्या है NCR

  एनसीआर एक रजिस्टर है जिसमें भारत के स्थाई नागरिक का लेखा-जोखा रखा जाएगा। आपको बता दें कि वर्ष 2013 में एनसीआर असम राज्य में लागू किया गया था और यह कार्य माननीय सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में पूरा किया गया। अभी वर्तमान में सरकार के द्वारा एनसीआर को पूरे देश में लागू करने का योजना बनाया जा रहा है लेकिन इस योजना में काफी समय लग सकता है ।क्योंकि पहले इसे लोकसभा में पास करवाना होगा ।आपको बता दें कि एनसीआर लाने का मुख्य उद्देश्य भारत में रह रहे गैर कानूनी तरीके से घुसपैठियों को बाहर निकालने का एक मजबूत योजना है जिसके तहत घुसपैठियों को आसानी से भारत से बाहर किया जा सकता है ।साथ ही साथ आपको यह भी बता दें कि जो व्यक्ति भारत का निवासी है उसे किसी भी प्रकार का एनसीआर से समस्या नहीं होने वाला है।

Ncr
NCE

2. NCR  में कौन-कौन से कागजात देना होगा। 

 आपको बता दें कि एनसीआर सिर्फ और सिर्फ असम राज्य में 2013 में लागू किया गया था अभी पूरा देश  में लागू नहीं किया गया है जिसके कारण कौन-कौन सा कागजात लगेगा यह बताना काफी मुश्किल है।   लेकिन असम राज्य में जो एनसीआर लाया गया था और जो रजिस्टर तैयार किया गया है उसमें यह मापदंड था कि जो व्यक्ति 24 मार्च 1971 से पहले या उसके पूर्वज 24 मार्च 1971 से पहले भारत में रह रहा है उसका एनसीआर में नामांकन किया गया ।   इसके लिए दस्तावेज के तौर पर राज्य सरकार या केंद्र सरकार के द्वारा दिया जाने वाला पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड , मतदाता पहचान पत्र , इंश्योरेंस का कागजात, बिजली का बिल पासपोर्ट इत्यादि में से किसी एक का मान किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Need Help? Chat with us